Badi Door Se Aaye Hain Lyrics from Movie Dunki

Badi Door Se Aaye Hain Lyrics is a latest released Bollywood song from the movie Dunki , sung by Sonu Nigam and its music is composed by Pritam and the song is written by Javed Akhtar , released by T-Series featuring Shah Rukh Khan, Taapsee Pannu directed by Rajkumar Hirani. This song is released on 11/02/2023 and streaming platforms are yt music.

Badi Door Se Aaye Hain Lyrics Details: –

Song: Badi Door Se Aaye Hain

Duration: 1:47 Min

Singer: Sonu Nigam

Music: Pritam

Lyrics: Javed Akhtar

Starring: Shah Rukh Khan, Taapsee Pannu

Album: Dunki

Company: T-Series

Badi Door Se Aaye Hain Lyrics In English

🚶‍♂️ Nikle The Kabhi Hum Ghar Se
Ghar Dil Se Magar Nahi Nikla
Ghar Basa Hai Har Dhadkan Mein
Kya Kare Hum Aise Dil Ka

🏡 Badi Door Se Aaye Hain
Badi Der Se Aaye Hain
Par Ye Na Koi Samjhe
Ham Log Paraye Hain

🪁 Kat Jaye Patang Jaise
Aur Bhatke Hawayon Mein
Sach Poocho To Aise
Din Hamne Bitaye Hain
Par Ye Na Koi Samjhe
Ham Log Paraye Hain

🏙️ Yehi Nagar Yehi Hai Basti
Aankhein Thi Jisse Tarasti
Yahan Khushiyan Thi Kitni Sasti

🌆 Jaani Pehchani Galiyan
Lagti Hain Purani Sakhiyan
Kahan Kho Gayi Wo Rang Raliyan

🛍️ Bazaar Mein Chai Ke Dhabe
Bekar Ke Shor Sharabe
Wo Dost Wo Unki Batein
Wo Sare Din Sab Ratein

💔 Kitna Gehra Tha Gam
In Sabko Khone Ka
Ye Keh Nahi Paaye Ham
Dil Mein Hi Chupaye Hain
Par Ye Na Koi Samjhe
Ham Log Paraye Hain

🚶‍♂️ Nikle The Kabhi Hum Ghar Se
Ghar Dil Se Magar Nahi Nikla
Ghar Basa Hai Har Dhadkan Mein
Kya Kare Hum Aise Dil Ka

🤔 Kya Hamse Hua
Kya Ho Na Saka
Par Itna To Karna Hai

🌍 Jis Dharti Pe Janme The
Us Dharti Pe Marna Hai
Jis Dharti Pe Janme The
Us Dharti Pe Marna Hai

Lyrics In Hindi

🚶‍♂️ निकले थे कभी हम घर से
घर दिल से मगर नहीं निकला
घर बसा है हर धड़कन में
क्या करें हम ऐसे दिल का

🏡 बड़ी दूर से आए हैं
बड़ी देर से आए हैं
पर ये ना कोई समझे
हम लोग पराए हैं

🪁 कट जाए पतंग जैसे
और भटके हवाओं में
सच पूछो तो ऐसे
दिन हमने बिताए हैं
पर ये ना कोई समझे
हम लोग पराए हैं

🏙️ यही नगर यही है बस्ती
आँखें थीं जिससे तरसती
यहां खुशियां थीं कितनी सस्ती

🌆 जानी-पहचानी गलियां
लगती हैं पुरानी सखियां
कहां खो गई वो रंग रलियां

🛍️ बाजार में चाय के ढाबे
बेकार के शोर शराबे
वो दोस्त वो उनकी बातें
वो सारे दिन सब रातें

💔 कितना गहरा था ग़म
इन सब को खोने का
ये कह नहीं पाए हम
दिल में ही छुपाए हैं
पर ये ना कोई समझे
हम लोग पराए हैं

🚶‍♂️ निकले थे कभी हम घर से
घर दिल से मगर नहीं निकला
घर बसा है हर धड़कन में
क्या करें हम ऐसे दिल का

🤔 क्या हमसे हुआ
क्या हो ना सका
पर इतना तो करना है

🌍 जिस धरती पे जन्मे थे
उस धरती पे मरना है
जिस धरती पे जन्मे थे
उस धरती पे मरना है

Badi Door Se Aaye Hain Video